• Post author:

मेरा कान खुल गया और मैं सुनने लगा

शायद इसलिए कि मैं इयरफोन के साथ संगीत सुनता था, 2017 से मेरे बाएं कान में कुछ बजने की आवाज आती थी। पहले जैसे कि कीड़ों की चहकने की आवाज आती थी और यह अनियमित होती थी, लेकिन बाद में यह लगातार होने लगा।

इस आवाज के कारण, मैं केवल 60 प्रतिषत ही लोगों की बातें समझ पाता था कि लोग क्या कह रहे है। यह मेरे लिए बहुत असुविधाजनक था। मैंने सोचा, यह स्वाभाविक है क्योंकि मेरी ऐसी स्थिति है कि मैं बहुत बूढ़ा हो गया हूं।

2019 में, मैंने चर्च के सदस्यों की गवाही पढ़ी, जो अपने द्वारा अनुभव की गई ईष्वरीय चंगाइयों के लिए परमेष्वर को महिमा दे रहे थे। मैं विश्वास से चंगा होना चाहता था। मैंने लगातार दो दौर की विषेष दानिय्येल प्रार्थना सभा में भाग लिया। जैसा कि मैंने हर रात पूरे हृदय से प्रार्थना की, मुझे मन में शांति मिली और मैं प्रभु के अनुग्रह से भर गया।

मैं सुबह मानमिन प्रार्थना केंद्र की सभाओं में भी शामिल हुआ। 28 मार्च को, प्रार्थना केंद्र की निदेशक श्रीमती ली ने मेरे लिए रूमाल के साथ प्रार्थना की, जिस पर सीनियर पास्टर रेव. जेरॉक ली ने प्रार्थना की (प्रेरितों के काम 19ः11-12)।

29 मार्च को शुक्रवार की रात्रि सभा में विशेष चंगाई सत्र में, मैंने सभी सदस्यों के लिए पास्टर सुजिन ली से रूमाल की प्रार्थना ग्रहण की।

शुक्रवार की संपूर्ण रात्रि सभा के बाद, मैं घर लौटा और बिस्तर पर चला गया। जब मैं उठा, मुझे एहसास हुआ कि आवाज चली गयी थी और मैं स्पष्ट रूप से सुन सकता था।

मैंने कितना तरोताजा और हल्का महसूस किया। मुझे यकीन था कि दो दौर की लगातार दानिय्येल प्रार्थना सभाओं के दौरान परमेष्वर मेरी प्रार्थनाओं को ग्रहण करेगा और उत्तर देगा।

इसके अलावा, मेरी बाईं आंख में मुझे ऐसा लगता था कि मेरी आंख के सामने कुछ तैर रहा है। हमेशा मुझे ऐसा लगता था कि मेरी आंख के सामने कुछ मक्खियां उड़ रही है। विषेष चंगाई सत्र के बाद अब हालत काफी बेहतर हो गए हैं। हाल्लेलुया।

मैं उस पिता परमेश्वर को धन्यवाद और महिमा देता हूं जिन्होंने मुझे चंगा किया। और मैं प्रभु के अनुग्रह के लिए धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस बहुमूल्य कलीसिया की ओर मेरी अगुवाई की, जो जीवित परमेश्वर के प्रमाणों के साथ उमड रही है।

Leave a Reply