• Post author:
रीटा (आयु 60, मध्य प्रदेश, भारत)

ट्रैफिक दुर्घटना के बाद फिर से चली(Healing after accident)
अप्रैल 2018 में, मैं अपने परिवार के साथ कार में थी। एक वाहन तेज रफ्तार से गुजरने की कोशिश में हमारी कार से टकरा गया। जो लोग उस वाहन में थे, वे सभी आग लगने के कारण मारे गए।

सौभाग्य से मेरे परिवार को लोगों ने बचाया और हमारे जीवन को प्रभावशाली तरीके से बचाया गया। मेरे बेटे, बेटी और दामाद को मामूली चोटें आईं, जबकि मुझे सिर में गंभीर चोट लगी और जाँघ की हड्डी में फ्रैकचर हुआ। मेरी एक अस्पताल में ब्रेन सर्जरी हुई और 3 दिन बाद उठी लेकिन 2 दिन तक मैं बोल नहीं पाई, डॉक्टर ने कहा कि मुझे मस्तिष्क की सर्जरी के कारण लकवा हो सकता है और मैं यहां तक कि जाँघ की हड्डी का ऑप्रेशन करवा भी लूं तब भी मैं चल नहीं पाऊंगी।

मैंने जाँघ की हड्डी का ऑप्रेशन नहीं करवाने का फैसला लिया। पूरे शरीर में दर्द वास्तव में कष्टदायी था। दर्द निवारक दवाओं ने भी मदद नहीं की। यहां तक कि भौतिक थेरेपी के साथ भी, मैं बिल्कुल भी नहीं चल पाई।
मैं एक प्राथमिक विद्यालय की प्रिंसिपल हूं और मैंने अपने बेटे की मदद से काम करने के लिए मुश्किल से जाती थी, लेकिन मैं गंभीर दर्द के कारण केवल 2 घंटे ही काम कर सकती थी। मैं घर पर बिस्तर पर थी, और मैं सिर्फ मरना चाहती थी।

मेरे भाई ने मुझे सुसमाचार प्रचार किया और मैंने अप्रैल 2019 में जीसीएन टीवी हिंदी चैनल पर मानमिन सेंट्रल चर्च की विशेष चंगाई सभा सत्र को देखा। मुझे बहुत आश्चर्य हुआ, जब मैंने देखा कि इतने सारे लोग रूमाल प्रार्थना से चंगे हो रहे हैं (प्रेरितों के काम 19ः11-12) और मैंने उनसे ईष्या की। मुझे लगा कि मैं भी चंगी हो सकती हूं।

ट्रैफिक दुर्घटना के बाद फिर से चली।

मई में विशेष ईश्वरीय चंगाई सत्र से पहले, मैंने रेव. जेरॉक ली द्वारा प्रचारित क्रूस का संदेश के सभी 24 संदेषों को सुना। मैंने प्रभु के दिन को पवित्र मानने के लिए जीसीएन टीवी हिंदी की आराधना सभा में भाग लिया। मैंने बड़ी उम्मीदों के साथ 31 मई को शुक्रवार की रात्रि सभा में भाग लिया।

सभा के दूसरे सत्र में पास्टर सुजिन ली ने बीमारों के लिए रूमाल के साथ प्रार्थना की और मेरे साथ एक चमत्कार हुआ। कष्टदायी दर्द दूर हो गया था और मैं चल पाई। हाल्लेलुयाह!

प्रभु के अनुग्रह से मुझे तुरंत चंगे होते देख, मेरे परिवार में विश्वास भी आया। मेरा बेटा और उसकी पत्नी जीसीएन टीवी हिंदी चैनल पर आराधना सभाओं में भाग ले रहे हैं। वे रेव. जेरॉक ली के अन्य संदेशों को भी सुनना चाहते हैं। मैं अन्य संदेशों के माध्यम से भी परमेश्वर की इच्छा को और अधिक जानना चाहती हूं।
मैं सारा धन्यवाद और महिमा सृष्टिकर्ता परमेश्वर और हमारे उद्धारकर्ता यीषु को देती हूं, जिन्होंने मुझे चंगा किया, जब कोई दवा मेरी मदद नहीं कर सकती थी और मुझे जीवन भर विकलांगता के साथ रहना पड़ा।

Leave a Reply