• Post author:

सू-ह्यून किम (न्यू क्वांगजू मानमिन चर्च)

शनिवार, 28 जनवरी, 2006 – जै-वू उबलते तेल के एक बर्तन में गिर गया।

चीनी नव वर्ष से एक दिन पहले, शनिवार 28 जनवरी, 2006 को, मैं दक्षिणी जीओन-ला प्रांत के हेनाम में, मैं अपनी सास के घर पर छुट्टियों के लिए खाना बनाने में व्यस्त थी। अपने बड़े बेटे जे-ह्यूक के साथ बाथरूम से लौटते समय, मैंने अपने छोटे बेटे जै-वू के रोने की आवाज सुनी।

जब मैंने जै-वू की ओर इशारा किया, तो मैंने देखा कि जिस वाकर में बच्चे को बैठाया गया था, वह रसोई की चैखट पर गिरा था और जै-वू उबलते हुए तेल के एक बर्तन में गिर गया था। जैसा कि मेरे पति (चुल ली) ने जल्द ही जै-वू को उठाने की कोशिश की, जिसका आधा चेहरा पहले से ही तेल में डूबा हुआ था, बच्चा अपने हाथों से फिसल गया और एक और बार उबलते तेल में गिर गया।

इसके बाद, मेरी सास सीनियर डीकन्सेस मल-जिन किम (मोकपो मानमिन चर्च) ने जै-वू के सिर पर मुआन मीठा पानी डाला। जैसा कि आप जानते हैं कि सीनियर पास्टर रेव डॉ जेरॉक ली की प्रार्थना से मुआन मीठा पानी कड़वे समुद्री जल से मीठे, पीने योग्य पानी में बदल गया था और अनगिनत लोगों के लिए हर तरह से चंगाई को प्रकट करता रहा है। हमनेे जै-वू को स्वचालित टेलीफोन पर रिकॉर्डेड सीनियर पास्टर की प्रार्थना भी ग्रहण कराई।


शाम 3 बजे, शनिवार, 28 जनवरी, 2006 – सियोल गए और रेव. डॉ. ली की प्रार्थना ग्रहण की।

यह इतनी विकट स्थिति थी, कि मेरी सास की सलाह पर हम रेव डॉ. जेराक ली से मिलने के लिए सियोल पहुंचे।

जै-वू के चेहरे की त्वचा उतर गई थी। हर बार मेरे आँसू बहते थे, जब मैंने उसके माथे, आँखों, ऊपरी होंठों और खोपड़ी पर बड़े फफोलों को देखा, तो कोशिका वाहिकाओं के साथ त्वचा के टुकड़े लुढ़के हुए त्वचा के नीचे दिख रहे थे, और उसकी आँखें बुरी तरह से सूजी हुई थीं।

सियोल के रास्ते में, हम सभी चकित थे, कि कैसे जै-वू प्रार्थना ग्रहण करने के बाद कोई दर्द, रोना या झल्लाहट महसूस नहीं कर रहा। वह वास्तव में काफी सहज लग रहा था। हालाँकि, वह कोई भी खाना खाने में असमर्थ था।

साढ़े तीन घंटे की यात्रा के बाद, हम सीनियर पास्टर से मिलने में सक्षम हुए, जो चाइनिज नव वर्ष के लिए अपने निवास पर थे। जब उन्होंने जै-वू के विकृत चेहरे को देखा, तो सीनियर पास्टर मुझसे भी ज्यादा उनका हृदय टूटा। उन्होंने धीरे से अपने हाथ को जै-वू के सिर पर रखा और उसके लिए गहराई से कई मिनटों तक प्रार्थना की।

“जलन दूर हो जाऐं। किसी भी बैक्टीरिया से संक्रमित होने से बच्चे को सुरक्षा दीजिए। घाव चंगा हो जाऐं। पिता परमेश्वर , दोबारा से बच्चे को पूरी तरह स्वस्थ बनाऐं। आपकी ज्योति उस पर आने पाए ! मैं यीशु मसीह के नाम से प्रार्थना करता हूं। आमीन।

उस क्षण, मुझे लगा कि सीनियर पास्टर का प्रेम मेरे हृदय में दौड़ रहा है। उनकी प्रार्थना ग्रहण करने के तुरंत बाद, जै-वू ने खाना, खाना शुरू कर दिया।

क्वांग्जू के लिए हमारे घर के रास्ते में, जै-वू आराम से सोया, अच्छी तरह से खाया, और आनंदित था।

अपने बीते समय के लिए पश्चाताप करना और परमेश्वर के लिए हाथों में सब कुछ करना सौंप देना।

इस घटना के माध्यम से, मैं और मेरे पति बहुत कुछ सीखने और महसूस करने आए। उस समय, हम प्रभु के दिन को पवित्र नहीं रखते थे

और परमेश्वर को संपूर्ण दशमांश नहीं दे पाते थे क्योंकि हम बहुत व्यस्त थे। इसके अलावा, हमने अपने परमेश्वर के प्रेम को नही पहचानने का पश्चाताप किया,

जिसने पिछले दिनों एक कार दुर्घटना में हम पर नजर रखी थी, जिसमें हममें से कोई भी घायल नहीं हुआ था। यह परमेश्वर की ओर से एक जागृत करने वाली पुकार थी, जो हमें अपनी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करने के लिए कह रही थी, लेकिन हमने इसे अनदेखा किया था।

जै -वू की बाईं आंख बुरी तरह से सूज गई थी और एक ऐसा अवसर था कि वह अपनी दृष्टि खो सकता था। जब हमने अगले दिन उसकी जाँच कराई, हालांकि, हमने देखा कि सूजन कम हो गई थी और नेत्रगोलक हमेशा की तरह सामान्य लग रहा था। फिर भी, जै-वू के होंठ अभी भी बहुत अधिक सूज गए थे कि होंठ की परत को पहचाना नहीं जा सकता था।

चिंतित परिवार के सदस्यों, पड़ोसियों और दोस्तों ने सवाल किया कि क्या जै-वू को अस्पताल नहीं ले जाना इतना अच्छा विचार था। जैसा कि सीनियर पास्टर की परमेश्वर की सामर्थ के प्रकट होने की खबर हमारे हृदयों में विश्वास के रूप में बस गई थी, मैं और मेरे पति केवल परमेश्वर के हाथों में सब कुछ छोडना चाहते थे।

निस्संदेह, हमने आँसूओं के साथ पश्चाताप किया, और परमेश्वर की दया माँगी।

शुक्रवार, 3 फरवरी दुर्घटना के 6 दिन बाद – जै-वू के चेहरे और सिर पर खुरण्ड आ गया।

जब हम घटनाओं की इस श्रृंखला में अपने विश्वास के लिए उपवास करते थे, परमेश्वर ने हमारे विश्वास को देखा और पहचाना, और सबसे स्पष्ट तरीके से अपना काम किया। फफोले हो सकते थे और मवाद घावों को संक्रमित कर सकते थे, लेकिन जैसे ही फफोले और मवाद होती वो सूख गए,

जै-वू के चेहरे और सिर पर खुरण्ड आ गऐं। शुक्रवार, 3 फरवरी, 2006 तक दुर्घटना के छह दिनों के बाद, जै-वू के चेहरे पर अधिक खुरण्ड आ गऐं।

शुक्रवार की संपूर्ण रात्रि सभा से पहले, हम सीनियर पास्टर की प्रार्थना एक और बार ग्रहण करने के लिए जै-वू को उनके पास लायें। जब उन्होंने कहा, परमेश्वर ने बच्चे की आंख को सबसे पहले ठीक किया, ताकि वह अपनी दृष्टि खो न दे,

उन्होंने चंगाई की प्रगति को देखते हुए, और हमारे बेटे के लिए ईमानदारी से प्रार्थना की, हम जो भी कर सकते थे हमने परमेश्वर और चरवाहे के प्रेम के लिए धन्यवाद दिया और स्तुतियां गाई।

शुक्रवार, 10 फरवरी नया मांस विकसित होते ही, खुरण्ड झड गऐं।

बाद में चंगाई का कार्य और भी तेज हो गया। जै-वू के चेहरे के बाएं आधे हिस्से पर खुरण्ड बने और खुरण्ड के नीचे नया मांस विकसित हुआ। सूखे खुरण्ड हादसे के दो हफ्ते से भी कम समय के अंतराल में 10 फरवरी तक टुकड़े-टुकड़े गिरते रेा और माथे को छोड़कर जै-वू के चेहरे पर मौजूद सारे खुरण्ड गिर गए। मेरी सास, मेरे पति, मसीह में कई अन्य भाइयों और बहनों ने और मैंने देखा कि नया मांस विकसित हो रहा है और खुरण्ड इतनी तेजी से गिर रहे हैं, हम केवल आनन्दित हुए और जीवित परमेश्वर को महिमा दी।

शुक्रवार, 17 फरवरी, 20 दिन बाद, जैे-वू का चेहरा एक भी निशान के बिना।

शुक्रवार, 17 फरवरी, 2006 तक, दुर्घटना के तीन सप्ताह से भी कम समय के बाद, बचे हुए सभी खुरण्ड जै-वू के चेहरे से उतर गए, जिसमें अब दुर्घटना से पहले की समय की तुलना में अधिक साफ त्वचा है। हाल्लेलुयाह!

व्यक्तिगत रूप से सीनियर पास्टर रेव. डा. जेराक ली के द्वारा परमेश्वर का सामर्थ का अनुभव करने के बाद, जै-वू, मैं और मेरे पति के पास पिता परमेश्वर पर विश्वास करने के अलावा और कोई विकल्प नही है।

हमने प्रभु के दिन को पवित्र रखने, सभी आराधना सभाओं में भाग लेने, अपने परिवार के साथ घर पर परमेश्वर की आराधना करने, और उन्हें धन्यवाद के साथ संपूर्ण दषंवाष देने के लिए विश्वास प्राप्त किया।

हम परमेश्वर के वफादार कार्यकर्ता बनना चाहते हैं, जिसने जै-वू को चंगा किया, उसके अनुग्रह को हम कभी न भूलें। हम जै-वू की चंगाई के लिए सर्वशक्तिमान परमेश्वर के लिए सारा धन्यवाद और महिमा देते हैं, जो मनुष्य के सामान्य ज्ञान से परे है, और हम सीनियर पास्टर रेव. जेरॉक ली के प्रति उनकी ईमानदारी से भरी हुई प्रार्थना के लिए गहरी प्रशंसा व्यक्त करना चाहेंगे।

Leave a Reply